प्रभुजी का मकसद एक रूढ़िवादी हिंदू चर्च, गैर-लाभकारी संगठन है। इसका मुख्य उद्देश्य प्रभुजी के संदेश को संरक्षित करना है।
प्रभुजी का मकसद दुनिया भर के हर व्यक्ति के अंदर दिव्य चेतना का जागरण करना है, जो कि उनके लिए हर एक धर्म का सार है, दुनिया की सभी समस्याओं के मौलिक समाधान के रूप में। मिशन की मुख्य गतिविधियाँ प्रभुजी की किताबों को प्रकाशित करना है और जरूरतमंद लोगों को भोजन प्रदान करना है। यह सब स्वयंसेवकों की कोशिशों और सहयोग से मुमकिन हुआ है।
2010 के बाद से, मिशन अब नए सन्यसियों को स्वीकार नहीं करता है।